अधिक सुनो, कम बोलो, समय आने पर निर्णायक बनों

Morning Motivation Hindi

सत्य नडेला, माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ से एक इंटरव्यू में जब पूछा गया कि वो मीटिंग किस तरह से रन करते हैं, तब उन्होंने जो बात कही वो हर लीडर के अन्दर होनी ही चाहिए ।

“Listen more, talk less and be decisive when the time comes.”

अधिक सुनिए, कम बोलिए और समय आने पर निर्णायक बनिये… 

इस दुनिया के सभी बड़े लीडर्स में आपको ये क्वालिटी देखने को मिल जाएगी, वो दूसरों की बातों को बड़े ही ध्यान से सुनते हैं, कम बोलते हैं और जब समय आता है तब निर्णय लेकर उसे सही साबित करते हैं ।

भगवान श्री कृष्ण इस दुनिया के पहले और सबसे बड़े मोटिवेटर हैं, उन्होंने कुरुक्षेत्र में अर्जुन की बातों को बड़े ही ध्यान से सुना, जब तक अर्जुन की पूरी बात खत्म नहीं हुई भगवान श्री कृष्ण चुप ही रहे… लेकिन जब अर्जुन ने अपनी बात खत्म की उसके बाद ही भगवान श्री कृष्ण ने बोलना शुरू किया और अंत में निर्णय लेकर अर्जुन ने उस निर्णय को सही साबित किया ।

यदि आप बातों को ध्यान से नहीं सुनेंगे, बातचीत के बीच-बीच में सामने वाले को टोकते रहेंगे तो अंत में किसी भी लीडर के लिए निर्णय लेना असमंजस भरा हो सकता है। इसलिए बातों को बड़े ही ध्यान से सुनिए, जब तक आप ध्यान से सुनेंगे नहीं तब दूसरों को समझना मुश्किल भरा हो सकता है ।

नीचे दिए लिंक्स पर क्लिक कर इन लेखों को भी जरूर पढ़ें : 

यहाँ क्लिक कर यह भी जरूर पढ़ें : ज़िंदगी का कोहरा | Morning Motivation in Hindi

Morning Motivation Hindi का रेगुलर अपडेट पाने के लिए kiransahu.com पर विज़िट करें । इस छोटे-से लेख पर अपने विचार प्रकट करने हेतु कृपया इस लिंक पर जाएं

Thanks 🙂

Kiran Sahu