Startup vs Business in Hindi by Kiran Sahu

Startup vs Business in Hindi

Startup आज India का नया Trend है, बहुत सारे लोग स्टार्टअप करना चाहते हैं और अपनी और दूसरों की Life में कुछ Value Create करना चाहते हैं । मैं खुद एक Startup का हिस्सा हूँ और इसके Founder के तौर पर मैंने इसे Run करते हुए काफी सारी चीजें सीखीं हैं, बहुत सारे Mistakes किये हैं और आने वाले Articles में मैं किसी Startup को आगे ले जाने के लिए या एक अच्छी Growth के लिए अपने Personal Opinions यहाँ Share करूंगा जो आपके Startup या Business को Boost करने में आपकी बहुत Help करेंगी ।

बहुत सारे लोगों के मन में ये सवाल होता है कि एक बिजनेस और स्टार्टअप में क्या Difference होता है ! आज का यह टॉपिक इसी बारे में है । मैं इसे ज्यादा Techie Language में नहीं बता रहा, मैं बस कुछ Basics Clear कर रहा हूँ । जब आप अपने Ideas से किसी Problem को Solve करते हैं और आपके Products से फायनेंशली आपको और आपके साथ काम कर रहे लोगों को Benefit मिलता है तो इसे आप एक अच्छा Business कह सकते हैं ।

Must Read : मरने से पहले कुछ करना है | किरण साहू

जब आप अपने लिए ही खुद का कोई काम शुरू करते हैं, जिसमें आप ही मालिक होते हैं और आप कोई प्रॉब्लम Solve कर रहे होते हैं तो आप एक Self Employed हैं । यह भी Business का ही एक Important Part है । ज्यादातर India में Self Employed लोग ही हैं या कहूँ हमारा देश Business के इस छोटे Sector में बहुत तरक्की कर चूका है क्योंकि हर गली मोहल्ले में आपको किराने के बहुत-से Stores दिख जाएँगे जो कि एक छोटा-सा Example है Self Employed लोगों का या छोटे Business मालिकों का ।

वैसे Business और Startup एक ही है लेकिन स्टार्टअप में आप अपने Business को Scale करते हैं और कई जगह पर Expand करते हैं । मान लीजिये आप एक किराने स्टोर के मालिक हैं, और आप ही अपने दूकान पर बैठते हैं तो इस Condition में आप Self Employed हैं । आप खुद कमाते हैं और जो Profit होता है वो आप रखते हैं लेकिन जिस दिन आप दूकान बंद करते हैं उस दिन आपको किसी भी तरह का कोई Benefit नहीं मिलता क्योंकि आप एक सेल्फ एम्प्लोईड हैं जिसमें आपको अपने Business में Involve होना होता है ।

आप पढ़ रहे हैं : Startup vs Business in Hindi  

जब आपका काम बढ़ता है और आप अपने किराना की दूकान पर किसी को Job देते हैं  और एक Team Build करके काम को बांटते हैं लेकिन इसके बावजूद आप गल्ले पर ही बैठे रहते हैं यह भी Self Employed में ही आएगा । लेकिन जिस दिन आपकी अनुपस्थिति में भी काम बेहतर ढंग से हो रहा होता है और बिना कुछ किये आपको अच्छा Profit हो रहा होता है तब आप इसे एक अच्छा Business का Example कह सकते हैं । लेकिन Legal तौर पर आप तब तक Self Employed रहेंगे जब तक कि आप अपने Firm को किसी Company के रूप में Register नहीं कर लेते ।

Must Read : जॉब सीकर की मानसिकता कब तक ?

यदि मैं बात करूं Startup का तो जब आप कोई किराना दूकान खोलते हैं और अकेले से शुरुआत करते हुए आप एक Growth लेकर आते हैं । इसके बाद अच्छे लोगों को Hire करके जब आप Team Build करके अपने Business को Technology से जोड़ते हुए और कई जगह पर Expand करते हैं और अपने Ideas को Limited न रखते हुए कई जगह पर Market Capture करते हैं तो इसे आप एक Startup कह सकते हैं । जिसमें आपके साथ एक Team Involve रहती है, Technology Adopt करके आप चीजों को और भी आसान बनाते हैं और चीजें बेहतर होती जाती हैं ।

Startup vs Business in Hindi इससे Related बहुत सारी Information आने वाले Articles में आपको पढ़ने को मिलेंगी । KiranSahu.com से जुड़े रहें और आगे बढ़ते रहें ।

धन्यवाद 🙂

किरण साहू